More

    ह्यूमन ट्रायल चैलेंज: जानबूझ कर लोग होंगे कोरोना पॉजिटिव

    -

    आशिषा सिंह राजपूत, नई दिल्ली

    यह सुनना किसी आश्चर्य से कम नहीं है, कि लोग जानबूझकर कोरोना पॉजिटिव होंगे। उस कोरोना से जिसने अपने आतंक से बड़े से बड़े देशों को घुटने पर ला दिया। कोरोना महामारी की मार स्वास्थ्य पर कुछ ऐसी पड़ी की आर्थिक और शारीरिक दोनों क्षमता कमजोर हो गई। कोरोना वायरस की ऐसी दहशत लोगों के मन में एसी घर कर गई , जिससे बचने के लिए लोगों ने भरपूर प्रयास किए और वह प्रयास अभी भी जारी है।

    जाहिर सी बात है इस बात पर यकीन करना कि कोई जानबूझकर कोरोना पॉजिटिव होना चाहता है, यह बेहद मुश्किल है। लेकिन हकीकत इससे परे है, और यह सच है कि ब्रिटेन में लोग जानबूझकर कोरोना पॉजिटिव होंगे।

    ब्रिटेन में होगा कोरोना ह्यूमन ट्रायल चैलेंज

    ब्रिटेन में कोरोना चैलेंज लेते हुए जानबूझकर 2500 लोग होंगे कोरोना वायरस से संक्रमित। और यह चैलेंज निभाने के लिए उन्हें चार लाख रुपए मिलेंगे। बता दें कि यह सब जनवरी 2021 से ब्रिटेन में दुनिया का सबसे बड़ा और पहला ह्यूमन चैलेंज ट्रायल के तहत होगा। कोरोना महामारी के बीच यह बात निश्चित रूप से आश्चर्य और चौंकाने वाली है। लेकिन दरअसल यह पूरा मामला ब्रिटेन में हो रहे कोरोना ह्यूमन ट्रायल चैलेंज का है। लंदन के रॉयल फ्री अस्पताल में ये चैलेंज किया जाएगा। जिसमें 2500 लोग अपनी मर्जी से कोरोना संक्रमित होंगे।

    जिसके लिए उन्हें चार लाख भी दिए जाएंगे। इस पूरे मामले के पीछे की सबसे बड़ी वजह है, उन कोरोना संक्रमित लोगों को वैक्सीन परीक्षण के नतीजों के लिए मॉनिटर करना। जिससे कि वैक्सीन का सफल व स्वस्थ परिणाम मिल सके। जानकारी के लिए आपको बता दें कि ऐसे ह्यूमन ट्रायल पहले भी किए जा चुके हैं जिसमें टायफाइड, मलेरिया और फ्लू जैसी बीमारियों शामिल है।

    कैसे होगा कोरोना चैलेंज ?

    कोरोना ह्यूमन ट्रायल चैलेंज लेने वाले लोगों को कम से कम दो हफ्तों के लिए क्लीनिक में लॉक रखा जाएगा और उनके शरीर को मॉनिटर किया जाएगा। बताया जा रहा है कि यह सब लाखों जिंदगियां बचाने के लिए किया जा रहा है।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    Latest news

    Must Read

    You might also likeRELATED
    Recommended to you