मुुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने कहा कि विधानसभा चुनाव में हम एक बार फिर प्रचण्ड बहुमत से जीतेंगे और राजस्थान में भाजपा की सरकार बनायेंगे। चुनावों के नजदीक आते ही भाजपा हर सीट पर सही उम्मीदवार ढूँढने के प्रयास में लगी है । रणकपुर में सीएम वसुंधरा राजे सहित चुनाव प्रबंधन समिति के सदस्य कार्यकर्ताओं से रायशुमारी के साथ ही जमीनी आंकड़े को समझने में लगे हैं।  इसी दौरान मुख्यमंत्री ने कार्यकर्ताओं में जोश भरते हुए कहा कि भाजपा एकमुख, एकरूप, एकजुट और एकस्वरूप है. जबकि, कांग्रेस में कई गुट, कई रूप, कई मुख और कई स्वरूप है।

टिकटों की रायशुमारी के पहले दिन कार्यकर्ताओं के बीच बोलते हुए राजे ने कहा कि चुनाव से पहले कांग्रेस के भीतर कई गलतफहमियां हैं।  उन्होंने कहा कि कांग्रेस के कई नेता चुनाव से पहले सीएम बनते हुए अपना मंत्रिमंडल भी बना लिया है. लेकिन, भाजपा कार्यकर्ताओं की मेहनत हर गलतफहमी को दूर कर देगी।  उन्होंने कार्यकर्ताओं से आह्वान किया कि राजस्थान में चुनाव को लेकर जो मिथक बना हुआ है. उसे इस बार तोड़ना है।  आपको बता दें कि प्रत्याशियों के चयन के लिए मंथन में जुटी सीएम सहित पार्टी पदाधिकारी कार्यकर्ताओं से सुझाव ले रहे हैं।

साथ ही वें संबंधित सीट के संगठन पदाधिकारियों से भी चर्चा कर रहे हैं। वहीं, उनसे हर पर्ची पर तीन-तीन प्रत्याशियों का नाम लिखवाकर उसे सीलबंद बॉक्स में डलवाए जा रहे हैं। टिकट पर जारी इस मंथन के बीच कई मौजूदा विधायकों के खिलाफ पार्टी कार्यकर्ताओं की नाराजगी भी सामने आई है। जानकारी के मुताबिक पहले दिन चले मंथन के दौरान रतनगढ़ विघायक और राज्यमंत्री राजकुमार रिणवा और सुजानगढ़ विधायक खैमाराम मेघवाल को लेकर कार्यकर्ताओं ने नाराजगी जताई। साथ ही यह भी कह दिया कि अगर पार्टी के स्तर पर इन्हें टिकट दिया गया तो हार का सामना करना पड़ सकता है.

राजे ने कहा कि कांग्रेस कहती है कि भाजपा सरकार की अच्छी योजनाओं को हम बंद नहीं करेंगे। इसका सिर्फ यही मतलब है कि कांग्रेस ने यह मान लिया है कि भाजपा सरकार द्वारा संचालित योजनाएं जनकल्याण की दृष्टि से श्रेष्ठ हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here