पूर्वांचली वोटर का बड़ा महत्व अम्बेडकर नगर चुनाव में

चुनावी डेस्क- दिल्ली का हर इलाका अपने आप में महत्वपूर्ण है. क्योंकि राष्ट्रीय राजधानी है. देश के हर कोने से व्यक्ति दिल्ली आना चाहता है. गुजर-बसर करना चाहता है. काम करना चाहता है. कुछ दिन दिल्ली में गुजारना चाहता है .लेकिन मौजूदा दिल्ली के हालात बेहद खराब है. ना पीने को साफ पानी है. वायु प्रदूषण का स्तर पर पूरी दुनिया जानती है. सिवरेज अटका पड़ा है. मुख्य मार्गों को छोड़ दें तो गलियों की सड़कों में गड्ढे बहुत ही मलबा हटा पड़ा है. गंदगी का आलम पसरा है. ऐसे में दिल्ली से लोगों का मोह भंग हो रहा है.

बाबा साहब अंबेडकर को समर्पित दिल्ली की अंबेडकर नगर कांस्टेंसी आम आदमी पार्टी सरकार के असंवेदनशील रवैए की शिकार हुई है. यही वजह है कि बुनियादी चीजों के लिए भी दो-चार होना पड़ रहा है. यह किसी भी सरकार की सबसे बड़ी नाकामी होती है. अंबेडकर नगर के स्थानीय लोग आम आदमी पार्टी के स्थानीय विधायक और सरकार के कार्यशैली से बेहद नाराज है.

अंबेडकर नगर इलाके के संजीव विजयवर्गीय का कहना है कि कई बार स्थानीय विधायक को खत लिख चुके है. छुट्टी के दिन समय निकालकर कार्यालय पर जाकर भी कह चुके है. पाइप लाइन से आने वाला पानी गंदा और बहुत जहरीला आता है. वही टैंकर से पानी आता है, तो साथ में टैंकर माफिया गुंडे पानी को लेकर मारपीट तक करते है. 5 साल में सरकार ने इस और ध्यान नहीं दिया है. इसलिए पिछली बार हमने आम आदमी पार्टी को वोट दिया इस बात पर बड़ा गुस्सा आता है.

दिल्ली की सियासत को करीब समझने वाले सियासी जानकार कहते है. इस बार दिल्ली में आम आदमी पार्टी के वापसी दूर की कौड़ी नजर आती है. अरविंद केजरीवाल के करीबियों का एक-एक कर दूर चले जाना. सत्ता का अहंकार हो जाना और जमीन पर कोई ठोस काम नहीं होना. केवल मुफ्त की योजनाओं के आश्रय सत्ता में वापसी की चाहत रखना बेमानी है. ऐसे में इस बार अंबेडकरनगर में आम आदमी पार्टी के लिए अप्रत्याशित नतीजे आ सकते है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here