राहुल गांधी और अखिलेश यादव के रोड शो में हुआ यह दर्दनाक हादसा, तड़प कर एक की मौत

राहुल गांधी और अखिलेश यादव के रोड-शो ने रविवार को आधे शहर का ट्रैफिक ध्वस्त कर दिया। हजरतगंज से चौक तक की सड़कों पर नेताओं की गाड़ियों के कारण चलने की जगह नहीं मिली, जबकि गलियां समर्थकों की भीड़ के कारण चोक रहीं। रोड शो के कारण डालीगंज पुल पर लगे जाम में एक ऐम्बुलेंस भी फंस गई, जिससे वक्त पर इलाज न मिलने से एक मरीज की मौत हो गई।

रोड शो को हजरतगंज स्थित गांधी प्रतिमा से दोपहर एक बजे निकलना था, लेकिन राहुल और अखिलेश तय समय पर नहीं पहुंचे। उनका रथ चौराहे पर सुबह से खड़ा रहा। इसके साथ करीब एक हजार से अधिक समर्थक चारों ओर रास्ता बंद कर डटे रहे। ट्रैफिक पुलिस ने सिकंदरबाग, बंदरियाबाग, गोल्फ क्लब और रॉयल होटल चौराहे से रूट डायवर्ट कर स्थिति संभालने की कोशिश की, लेकिन सप्रू मार्ग, डीएसओ चौराहा और हुसैनगंज की ओर से गाड़ियां घुसती रही। जो लोग गाड़ी लेकर भीड़ में घुस गए, उन्हें लौटने के लिए घंटेभर मशक्कत करनी पड़ी।

पुराना शहर चोक
रोड शो मेफेयर से लालबाग पहुंचा तो गाड़ियों के खड़े होने की जगह तक नहीं बची। समर्थक गलियों में खड़े हो गए। इससे लोग अपने घरों से भी बाहर नहीं निकल पाए। यही हाल कैसरबाग और नजीराबाद तक रहा। अमीनाबाद में पहुंचने पर हालात और बदतर हो गए। श्रीराम रोड, गुईन रोड और नजीराबाद रोड बंद हो गया और मौलवीगंज से रकाबगंज चौराहे तक पैदल चलने की जगह नहीं बची। इससे पाण्डेयगंज होकर नाका और चारबाग तक ट्रैफिक ठप हो गया। उधर, रकाबगंज पुल से केजीएमयू होकर शाहमीना और चौक चौराहे तक चलने की जगह नहीं बची। रोड शो घंटाघर पहुंचकर रात करीब सात बजे समाप्त हुआ, लेकिन जाम से निजात काफी रात तक नहीं मिली।

जाम में फंसी ऐम्बुलेंस में मरीज ने तोड़ा दम
रोड शो के कारण डालीगंज पुल पर भी जाम लगा रहा। यहां एक ऐम्बुलेंस काफी देर फंसी रही, जिससे एक मरीज की मौत हो गई। गुडम्बा के रजौली गांव निवासी मुन्ना ने बताया कि उनके भाई मोहम्मद अनीस (30) का इंटिग्रल हॉस्पिटल में इलाज चल रहा था। हालत गंभीर होने पर रविवार को डॉक्टरों ने केजीएमयू रेफर किया। दोपहर करीब 1:30 बजे वह हॉस्पिटल की ऐम्बुलेंस से भाई को लेकर आ रहे थे, लेकिन ऐम्बुलेंस डालीगंज पुल पर जाम में फंस गई। सायरन सुनकर भी पुलिसवाले रास्ता खाली करवाने नहीं आए।

करीब आधे घंटे जाम में फंसे रहने के बाद केजीएमयू पहुंचे तो डॉक्टरों ने भाई को मृत घोषित कर बताया कि आने में देर हो गई। वहीं, एएसपी ट्रैफिक हबीबुल हसन का कहना है कि किसी भी ऐम्बुलेंस के जाम में फंसे होने की जानकारी नहीं मिली है। पीड़ित की शिकायत मिली तो मौके पर तैनात ट्रैफिक कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here