शाहीन बाग में गोली चलाकर हिंदूओ को बदनाम करने वाला निकला केजरीवाल की पार्टी वाला

शाहीन बाग में चल रहे प्रदर्शन के खिलाफ फायरिंग करने वाले शख्स कपिल गुर्जर के बारे में दिल्ली पुलिस ने एक अहम खुलासा किया है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार वह और उसके पिता ने आम आदमी पार्टी ज्वाइन किया था। सीएए और एनआरसी को लेकर दिल्ली के शाहीन बाग में कई दिनोंं से प्रदर्शन हो रहा है। एक फरवरी को यहां हुई फायरिंग में दिल्ली पुलिस ने कपिल गुर्जर नाम के शख्स को गिरफ्तार किया था। मंगलवार को उसके बारे में खुलासा किया है।

गौरतलब है कि दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच का कहना है कि उसे पूछताछ के दौरान कपिल के फोन से कई तस्वीरें मिली हैं जिनमें आप जॉइन करने से जुड़ी तस्वीरें भी हैं। इन तस्वीरों में कपिल अपने पिता और कई अन्य लोगों के साथ आप की सदस्यता ले रहा है। क्राइम ब्रांच के डीसीपी राजेश देव ने बताया, ‘हमारी शुरुआती जांच में हमें कपिल के फोन से कुछ तस्वीरें मिली हैं, जिससे यह साबित हो जाता है और उसने खुद खुलासा किया है कि वह और उसके पिता ने एक साल पहले AAP जॉइन की थी। हमने उसे दो दिन की रिमांड पर लिया है।’

उल्लेखनीय है कि नोएडा से सटे पूर्वी दिल्ली के इलाके दल्लूपुरा के रहने वाले कपिल ने फायरिंग करते हुए घटनास्थल पर ‘जय श्री राम’ के नारे लगाए थे और यह भी कहा था कि यहां सिर्फ हिंदुओं की चलेगी। कपिल को रविवार को मेट्रोपॉलिटन जज के सामने पेश किया गया था जिन्होंने उसे दो दिन की पुलिस कस्टडी में भेज दिया था।

वहीं, बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर सहित बीजेपी के तमाम नेता आम आदमी पार्टी पर हमलावर हैं। जेपी नड्डा ने ट्वीट कर अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा, ‘राजनीतिक लालसा के लिए केजरीवाल और उनके लोगों ने देश की सुरक्षा तक को बेच दिया। पहले केजरीवाल सेना का अपमान करते थे और आतंकवादियों की वकालत, लेकिन आज तो उनके आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने वालों से सम्बंध सामने आ गए।’

दूसरी तरफ दिल्ली बीजेपी के चुनाव प्रभारी प्रकाश जावड़ेकर ने कहा है कि यह कोई साधारण फोटो नहीं हैं। कपिल गुज्जर आम आदमी पार्टी ज्वॉइन कर रहा था और संजय सिंह उसका स्वागत कर रहे थे। यह बताता है कि आम आदमी पार्टी कैसे युवाओं का गलत इस्तेमाल करती है। दिल्ली की जनता के सामने आप बेनकाब हो गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here