शाहीन बाग ने किया सीलमपुर में ध्रुविकरण, वोट बटने के आसार

चुनावी डेस्क- राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली का सीलमपुर इलाका दंगों का दंश झेलता रहा है। चालीस प्रतिशत मुस्लिम आबादी है। वही साठ प्रतिशत हिंदू आबादी है। आए दिन होने वाले खराब माहौल के कारण वोटों के ध्रुवीकरण कि संभावना है।

लिहाजा सीलमपुर में रहने वाले लोग दहशत भरे महौल में जीने को मजबूर है। वही हालिया शाहीनबाग प्रकरण इस सारे माहौल में आग में घी वाला काम कर रहा है।यहां के स्थानीय लोगों का कहना है। इस बार हमें ऐसे विधायक कि तलाश है, जो सीलमपुर को दंगा मुक्त शांति युक्त बना सके।

मिडिया रिपोट्स कि माने तो वोटों के ध्रुवीकरण के साथ मुस्लिम वोटों के आप और कांग्रेस में बंटने से भाजपा को फायदा हो सकता है। इसी बौखलाहट के चलते आप नेता कपिल गुर्जर जैसे मासूमों को अपना मोहरा बनाने में जुट़े है।

वही राजनैतिक जानकारों का कहना है।सीलमपुर में सड़क, पानी, सीवरेज, पार्किंग जैसे मुद्दों से ज्यादा शांतिपूर्ण माहौल कि अहमियत है। इसलिए यहां विकास से ज्यादा दुआ सलाम कारगर है। वही वोटों के ध्रुवीकरण कि बात को खारिज नहीं किया जा सकता है। अब बस सबको नतीजों का इंतज़ार है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here