अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में वृद्धि और डॉलर के मुकाबले कमजोर रुपया के बाद से, भारतीय बाजारों में पेट्रोल और डीजल की ईंधन की कीमतें हमेशा उच्च थीं।

जबकि, अब देश में पिछले कई हफ्तों के मुकाबले पेट्रोल और डीजल दरों में लगातार गिरावट देखी जा रही है।

ईंधन की कीमतों में कमी की मात्रा को समझने के लिए, हमने चार मेट्रो शहरों: मुंबई, नई दिल्ली, बेंगलुरु और कोलकाता में ईंधन की दरों में कमी का विश्लेषण किया है।

जहां मुंबई में 4 अक्टूबर, 2018 को 91.3 9, लीटर से 12.3% दर से नीचे आ गई हैं, वही 23 नवंबर 2018 को 80.12 प्रति लीटर हो गया है, अकेले नवंबर के महीने में, मुंबई शहर में पेट्रोल की दर लगभग 5.6% कम हो गई है। नई दिल्ली पिछले 20 दिनों में, राष्ट्रीय राजधानी में ईंधन की कीमतों में उल्लेखनीय कमी आई है, पेट्रोल जो अक्टूबर के शुरू में 84.06 रूपये था, वो अब घटकर 74.58, रूपये हो गया है, 11.27% चौंकाने वाली कमी दर्ज की गई है।

जबकि नई दिल्ली में डीजल की वर्तमान कीमत 69.38 रुपये लीटर से 8.3 प्रतिशत तक गिरावट हुई है।

बेंगलुरु के दक्षिणी महानगर में 4 अक्टूबर को 84.72 प्रति लीटर से, कीमतों में गिरावट आई है, और वर्तमान में यह अपने उच्चतम से लगभग 11% सस्ता है।

वही कोलकाता में पेट्रोल की कीमतों में करीब 10.3% की गिरावट दर्ज की गई, इस महीने 76.9 4 प्रति लीटर से कोलकाता शहर में पिछले महीने 85.8 प्रति लीटर था, कोलकाता में डीजल की कीमत 18 अक्टूबर, 2018 के आसपास अभूतपूर्व स्तर पर थी। 77.54 प्रति लीटर तब से, कोलकाता में डीजल की कीमतों में गिरावट आई है।

चार सबसे बड़े मेट्रोपॉलिटन शहरों में कीमतों में गिरावट आई है, तो पिछले 8 सप्ताह में पेट्रोल की कीमतें करीब 10 रुपये, डीजल 6.5 रुपये की गिरावट आई है। यह दुनिया भर में भी अनुमानित है, कि कच्चे तेल की कीमतें और नीचे जा सकती हैं, जिसके परिणामस्वरूप ईंधन की कीमतों में अतिरिक्त गिरावट आई है। लेकिन यह आमजन के लिए बडी राहत है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here