राजस्थान चुनाव अपने पूरे परवान पर है, कांग्रेस और भाजपा दोनों ही जीत के लिए पूरे प्रयास करती नज़र आ रही हैं। साथ ही साथ कॉंग्रेस पार्टी में गेहलोत और सचिन पायलट खेमे के बीच भी खींच तान का दौर थमने का नाम नहीं ले रहा है । आपको जान के हैरानी होगी की इस चुनाव में जाती, धर्म के अलावा कश्मीरी मतभेद भी है। आपको ये जान के हैरानी होगी की फ़रूक अब्दुल्ला अपने दामाद सचिन पायलट को राजस्थान का मुख्यमंत्री बनाना चाहते हैं। जी हाँ वही फ़रूक अब्दुलाह जो अपने भारत विरोधी बयानों के लिए जाने जाते हैं । उन्होने विभिन्न मुद्दों पर अपने देश की चिंता किए बगैर पाकिस्तान का खुले तौर पे समर्थन भी किया ।

उमर अब्दुल्ला की एक बहन है जिसका नाम सारा है। फारुख अब्दुल्ला की बेटी और उमर की बहन सारा अंग्रेज मां की मौली की बेटी है। जब कश्मीर के हालात बिगड़ने लगे तब उमर की बहन को उसके पिता फारुख ने 1990 में लंदन भेज दिया था। वहीं पर उसने अपनी पढ़ाई की है। उसने होटल मैनेजमेंट के साथ ही अन्तरराष्ट्रीय रिश्तों में पीजी किया है।

सारा का एक बड़ा सच है जो आप नहीं जानते होंगे। सारा जब विदेश में पढ़ाई कर रही थीं तब उनको एक लड़के से प्यार हो गया था। वो लड़का भी भारत से विदेश पढ़ने गया था और एक बड़े राजनीतिक घराने का था। वो कोई और नहीं बल्कि राजेश पायलट के बेटे और कांग्रेस सांसद सचिन पायलट थे। सारा और सचिन कई साल तक एक दूसरे को डेट करते रहे। इसके बाद दोनों ने शादी करी ।

सूत्रों की मानें तो फ़रूक अब्दुल्ला अपने दामाद को मुख्यमंत्री पद का दावेदार बनाने के लिए एढ़ी-चोटी के दम से लग गए हैं। कयास ये भी लगाए जा रहे हैं की फ़रूक ने कांग्रेस से कश्मीर में सरकार बनाने पर डील भी कर ली है अगर पार्टी उनके दामाद सचिन पायलट को राजस्थान का मुख्यमंत्री बनाने के लिए तय्यार हो ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here