मुद्दों को छोड़कर सीलमपुर में “आप” उतर आई ड्रामा पर

चुनावी डेस्क- चुनाव साहब नेताओं से क्या क्या नहीं करवा देता। पांच साल सत्ता कि खुमारी में रहने वाले नेताजी, ऐन चुनावी दिनों में कल तक आँख दिखाने वाली जनता के आगे दण्डवत नतमस्तक हो जाते है। वही चुनाव जीतने के लिए साम,दाम, दंड, भेद सब बारी बारी से आजमाते है।

लिहाजा पांच साल केजरीवाल सरकार के कामकाज के आसरे पार नहीं पडी, तो मुफ्त कि योजनाओं के भारी भरकम वादों कि पोटली ले आए।

मतदान से चार दिन पहले आप का एक नया पॉलिटिकल ड्रामा सामने आया है। दरअसल बीते दों महिने से शाहीनबाग में सीएए के खिलाफ धरना चल रहा। जिस पर दो दिन अलग अलग युवकों ने गोली चलाई है। इनमें से कपिल गुर्जर नामक युवक आप पार्टी के कार्यकर्ता के तौर पर पहचान हुई। पुलिस अभी जाँच में जुटी है।

सियासी जानकर कहते है, यह घटनाक्रम आप के लिए घाटे का सौदा साबित हो सकता है। ऐसे वोटों के ध्रुवीकरण के आसार है। आगामी आठ फरवरी को मतदान होना। इसलिए इस ड्रामा पॉलिटिक्स का असर 11 फरवरी के नतीजों में देखने को मिल सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here